बैडमिंटन के नियम Badminton History, Court Measurement, Rules & Information in Hindi

बैडमिंटन के नियम Badminton History, Rules & Information in Hindi


 

बैडमिंटन की उत्पत्ति के बारे में सही से बताना तो कठिन है, परन्तु ऐसा माना जाता है की Badminton खेल का विकास भारत में हुआ था। 

ऐसा माना जाता है कि आजा से लगभग 200 साल पहले पूर्ण नमक एक खेल खेला जाता था। पूर्ण खेल बैडमिंटन के साथ मिलता जुलता था। पूर्ण खेल में रुई के गोलों से खेला जाता था और इस खेल को 6-6 खिलाडी खेला करते थे।

वही खेल आज भारत में badminton के रूप मैं खेला जाता है। आज भी ये अनुमान लगाया जाता है की बैडमिंटन को ब्रिटिश ऑफिसर खेला करते थे। बाद में इस खेल को वेह अपने साथ इंग्लैंड ले गए थे।

बैडमिंटन के नियमो को पहली बार 1870 में बनाया गया था। एक एसोसिएशन की स्थापना हुई थी जिसका नाम बैडमिंटन एसोसिएशन ऑफ़ इंग्लैंड के नाम से जाना जाता था। बैडमिंटन एसोसिएशन ऑफ़ इंग्लैंड की स्थापना 1893 ई०  में हुई थी।


बैडमिंटन एसोसिएशन ऑफ़ इंग्लैंड ने पहली बार बैडमिंटन प्रतियोगिता आयोजित की थी। जिसको 1902 नाम बदलकर आल इंडिया इंग्लैंड चैंपियनशिप रखा गया था। ये चैंपियनशिप आज भी  आल इंडिया इंग्लैंड के ही नाम से प्रसिद्ध है।

विश्व में सबसे पहले इंटरनेशनल मैच 1902-03 में दवलिन में किया गया था। अगर भारत की बात करें तो भारत में सबसे पहले बैडमिंटन पहली बार स्टेट बैडमिंटन चैंपियनशिप 1929 में किया गया था और इस चैंपियनशिप को पंजाब ने जीता था।

इंटरनेशनल बैडमिंटन संघ की स्थापना 1934 में हुई थी। अखिल भारतीय बैडमिंटन एसोसिएशन की स्थापना 1935 में हुई थी।

भारत इंटरनेशनल बैडमिंटन संघ का सदस्य 1938 में बना था। थॉमस कप जो की पुरुषों का कप था, उसकी स्थापना 1948 में और उबेर कप महिलाओं के लिए की स्थापना 1956 मेकि गयी थी।

सन 1962 में बैडमिंटन को एशियाई खेलों में शामिल किया गया। वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप का आयोजन सबसे पहले 1977 के बाद हर दो साल बाद किया जाता है। बैडमिंटन खेल को ओलिंपिक खेलों में सन 1992 में शामिल किया गया था।

Badminton Game Court Measurement/Dimension

बैडमिंटन को आयताकार ग्राउंड पर खेला जाता है। Badminton Court को दो भागों में विभाजत करने के लिए नेट का प्रयोग किया जाता है।

बैडमिंटन कोर्ट तैयार है की इसमें सिंगल और डबल दोनों खेल सके। 

Badminton कोर्ट की लम्बाई 20 फ़ीट या 6.1 होती है। Badminton Court लम्बाई और चौड़ाई मैच के ऊपर भी निर्भर करती है अगर मैच सिंगल्स में खेला जाए तो कोर्ट की लम्बाई कम करके 5.18 कर दी जाती है और इसकी चौड़ाई 13.4 जाती है। बैडमिंटन कोर्ट की नेट से दुरी 1.98 राखी जाती है।

ये भी पढ़ें 

 

बैडमिंटन की कुछ जरुरी बातें    

  • बैडमिंटन singles के कोर्ट का आकर 44✕17 फुट की होती है।
  • बैडमिंटन doubles के कोर्ट का आकर 44✕20 फुट की होती है।
  • बैडमिंटन खेल में चिड़िया का वजन 4.73 से 5.50 ग्राम या फिर 73 से 85 ग्रेन्स होता है।
  • बैडमिंटन में चिड़िया के पंखों की संख्या 16 होती है।
  • बैडमिंटन में चिड़िया के पंखों की लम्बाई 2½ से 2¾ इंच होती है।
  • चिड़िया के उपरी भाग की परिधि 21/8  से 2½ इंच होती है।
  • बैडमिंटन में चिड़िया के कॉर्क की परिधि 1 से 1½ इंच तक होती है।
  • बैडमिंटन में नेट की केंद्र से भूमि की ऊँचाई 5 फुट या 152.4 सेंटीमीटर होती है।
  • पोल से नेट की कुल ऊँचाई 5 फुट 1 इंच या फिर 152.4 सेंटीमीटर होती है।
  • Badminton में नेट की चौड़ाई 760 मिलीमीटर या 2 फुट 6 इंच होता है।
  • नेट मैश ¾ से 1 इंच होता है।
  • नेट बैंड 3 इंच को होता है।


बैडमिंटन के नियम, badminton rules in Hindi

किसी भी खेल को खेलने के लिए या फिर किसी खेल को देखने के लिए उस खेल के नियमो (Rules) के ज्ञान होना बहुत ही जरुरी होता है चाहे वो kabaddi rules हों या फिर kho kho rules हों। अगर हम बिना Rules के जानने के किसी गेम को देखते हैं तो उस गेम को देखने का मजा नहीं आता।
इस पोस्ट में हमने badminton rules history, और इनफार्मेशन शेयर की है। 


Badminton rules in Hindi (1-10)
1. जैसे हर खेल को टॉस के साथ शुरू किया जाता है उसी तरह बैडमिंटन को भी टॉस के साथ शुरू किया जाता है।
2. टॉस करने के बाद जो टीम टॉस विजय करता है वेह टीम सर्विस और क्षेत्र में से किसी एक को चुनती है।
3. जैसा की हम जानते हैं की अधिकतर खेलों में समय की सीमा होती है परन्तु बैडमिंटन में समय की कोई सीमा नहीं होती है।
4. हर सेट समाप्त होने के बाद दोनों टीमों के खिलाडी दिशा को बदलते हैं।
5. यदि खेल को रोकना हो to अम्पायर let शब्द का प्रयोग करता है। परन्तु ये कुछ सिमित दशाओं में ही निर्भर करता है जैसे कि शटल टूट जाए, कोई दुर्घटना हो जाए, सर्विस लेने या देने वाला कोई गलती करे, यदि शटल नेट में फंस जाए तभी अम्पायर Let का प्रयोग करता है।
6. शटल को यदि दो बार मारा जाए तो फ़ाउल माना जाता है।
7. यदि कोई खिलाडी अभद्र व्यवहार करता है तो उसे बहार निकाल दिया जाता है।
8. अगर सर्विस देने वाले खिलाडी के हाथ से यदि शटल छुट जाए तो फ़ाउल मन जाता है।
9. सर्विस यदि शोर्ट सर्विस लाइन में गिर जाए तो भी फ़ाउल माना जाता है।
10.सर्विस करने वाला खिलाडी अपने पैरों को ना ही उठा सकता है और ना ही हिला सकता है।

Badminton rules in Hindi (11-20)
11. किसी भी खिलाडी को अपने समय से पहले सर्विस करने की अनुमति नहीं होती है।
12. सर्विस हमेशा दुसरे टीम के खिलाडी के तैयार होने पर ही दी जाती है।
13. खिलाडी अंपायर की अनुमति के बिना क्षेत्र नहीं छोड़ सकता है।
14. खिलाडी के चेहरे पर किसी प्रकार की रौशनी नहीं पदनी चाहिए।
15. Let की डिमांड दूसरी सर्विस शुरू होने से पहले नहीं करनी चाहिए।
16.अगर बैडमिंटन का खेल इंडोर हो रहा हो तो हॉल की ऊँचाई कम से कम 8 मीटर तक होती है।
यदि जाल हिल रहा हो तो सर्विस नहीं दी जाती है।
17. खेल के दौरान कोई भी खिलाडी सिटी का प्रयोग नहीं कर सकता है।
18. खेल के दौरान रेस्ट करने की अवधि 5 मिनट की होती है।
19. यदि खेल बैडमिंटन हॉल में हो रहा हो तो दिवार का रंग हमेशा सफ़ेद या पिला होता है।
20. हर एक सेट में अधिक से अधिक 59 सर्विस कर सकते हैं जिस में सेट 30-29 पर खत्म हो जाता है।

Badminton rules in Hindi (21-29)
21. बैडमिंटन के नए नियम के अनुसार सिंगल खेल में हर सर्विस पर अंक मिलता है।
22. बैडमिंटन में हर सेट की समाप्ति 21 अंक पर होगी यदि दोनों के 20 अंक हो जाते हैं तो ऐसी स्थिति में जिस टीम को 2 अंकों की बढ़त होगी उस टीम को विजयी घोषित किया जाता है।
23. सिंगल खेल में सैम विषम अंकों पर कोर्ट दायें और बाएं में परिवर्तित होता रहेगा जैसे पहले होता था।
24. पुराने Rule में सर्विस के बदलने पर अंक मिलता था टेनिस में हर सर्विस पर किसी न किसी टीम को अंक मिलना निसिचित होगा।
25. बैडमिंटन में यदि दोनों टीम के 2 अंकों की बढ़त में दोनों टीमों के 29-29 अंक पहुँच पाते है तो ऐसी परिस्थिति में जिस टीम के 30 अंक पहले होंगे वह टीम प्रतियोगिता अथवा मैच जीत जायेगा।
26. Double बैडमिंटन गेम में पहली सर्विस दायें अर्ध क्षेत्र से ही होगी। Duble खेल में सम एवं विषम अंकों का कोई महत्व नहीं होता है।
27. डबल बैडमिंटन में एक समय केवल एक ही सर्विस कर सकता है।अंक दूसरी टीम को जाने पर सर्विस बदल कर दूसरी टीम को चली जाएगी। यदि दूसरी टीम भी जब अंक गंवा देती है तो सर्विस दुबारा से पहली टीम को मिल जाएगी।
28. सर्विस हमेशा दायें से बाएं और बाएं से दायें अर्ध में दी जाती है।
29. सर्विस कोर्ट में तब गलत माना जायेगा जब सर्विस गलत कोर्ट से करें या गलत कोर्ट पर करें और गलत खिलाडी रिसीब करें।

Badminton के कुछ फंडामेंटल Skills

ऊँची सर्विस देना:- इस प्रकार की सर्विस में कम से कम 14 फुट उपर उतःनी होती है। ऊँची सर्विस की लिए कोर्ट में शोर्ट सर्विस लाइन से 3-4 फुट अपना बायाँ पैर आगे रखकर मध्य रेखा के पास खड़े होकर रैकेट को पीछे स्विंग करने के बाद शटल को विरोधी टीम के कोर्ट में मारना चाहिए। लेकिन ध्यान रहे दोनों पावोंजमील को न छोड़े।


रैकेट पकड़ना:- badminton में रैकेट को सही तरीके से पकड़ना बहुत ही अनिवार्य होता है। रैकेट को हमेशा सीधे हाथ के अगुंठे और उँगलियों से रैकेट के हैंडल के उपरी भाग पर बनना चाहिए अर्थात अंगूठा अंदर की और तथा उँगलियाँ बाहर की तरफ होना चाहिए।

Smashing करना:- स्मश करने के लिए प्लेयर को शटल के निचे आना पड़ता है। रैकेट को कलाई के सहारे मोड़ कर पीछे ले जाते हुए शटल को सर के उपर से मरना चाहिए। शटल मरते समय रैकेट पुरे तरह से उपर जाना चाहिए और कलाई के सहारे शॉट मरना चाहिए।

ड्राप करना:- badminton में ड्राप एक ऐसा शॉट होता है जो सर के उपर से ही मारा जाता है। ड्राप में शटल को नेट के उपर इस प्रकार से मारा जाता है की वेह विरोधी टीम के कोर्ट में नेट के करीब गिरे। ड्राप शॉट में कलाई के माध्यम से हल्का सा झटका दिया जाता है।

ड्राइव करना:- यह ऐसा स्ट्रोक है जो भूमि के समानांतर मारा जाता है। ये badminton में जीत का एक बहुत ही अच्छा सस्त्र है। ड्राइव शॉट बेक हैण्ड और फोर हेड से खेला जाता है। 


Frequently Asked Question
Question:- Badminton में खेलने वाले खिलाडी के मैदान कितने होना चाहिए?
Answer:- Badminton में खेल का मैदान 44 फुट ✕ 17 फुट होना चाहिए।

Question:- अगर Badminton में दो खिलाडी खेल रहे हों तो मैदान कितने होना चाहिए?
Answer:- दो खिलाडियों के लिए खेल का मैदान 44 फुट✕20 फुट होना चाहिए।

Question:- Badminton नेट की मध्य में धरती से कितनी ऊंचाई होनी चाहिए?
Answer:- नेट की ऊंचाई 5 फीट होती है।

Question:- Badminton में चिड़िया के कितने पंख होते हैं?
Answer:- Badminton में चिड़िया के 16 पंख होते है।

Question:- खम्भों की जमीन से ऊंचाई कितनी होनी चाहिए?
Answer:- खम्भों की जमीन से ऊंचाई 5 फीट और 1 इंच होनी चाहिए।

Question:- Badminton में नेट की चौड़ाई कितनी होती है?
Answer:- जाल की चौड़ाई 2 फीट और 6 इंच होती है।

Question:- Badminton खेल में चिड़िया का भर कितना होता है?
Answer:- चिड़िया के भार 4.73 से 5.50 ग्राम तक होता है।

Question:- रैकेट की पूरी लम्बाई कितनी होनी चाहिए?
Answer:- रैकेट की पूरी लम्बाई 680 मिलीमीटर होनी चाहिए।

Question:- Badminton के 1 खेल में कितने सेट होते है?
Answer:-  1 गेम में 5 सेट होते हैं।

Question:- शोर्ट सर्विस के लिए मध्य रेखा से कितनी दुरी होनी चाहिए?
Answer:- 6 फीट 6 इंच।

Also Read About

1 Comments

Please do not enter any spam link in comment box.

  1. बैडमिंटन के बारे में विस्तृत जानकारी के लिए धन्यवाद।

    ReplyDelete
Previous Post Next Post