कबड्डी के नियम | Kabaddi History, Ground Measurement, Rules and Information in Hindi

Kabaddi History, Rules and Ground Measurement Information in Hindi

कबड्डी एक भारतीय खेल है।  कबड्डी खेल का इतिहास काफी पुराना है।  कबड्डी खेल पहले काफी कठिन खेल था। जो की काफी समय पहले गावों में खेली जाती थी। 

कबड्डी खेल को 1918 में विकसित करने की एक कोशिश की गयी थी, इसके कबड्डी के नियमो को “हिन्द विजय जिम खाना बडौदा” के द्वारा 1923 में छपवाया गया था। इसके बाद कबड्डी के नियमो को 1934 में महारास्ट्र शारीरिक परिषद् ने संसोस्धित किया था।



कबड्डी को पुरे भारत में अलग अलग नामो से पुकारा जाता है. जैसे गुजरात, महारास्ट्र और मध्य प्रदेश में हु-तू-तू और तमिलनाडु में हे-डू-डू और उत्तरी भारत में कबड्डी के नाम से पुकारा जाता है।

कबड्डी खेल भारत के पडोसी देशों नेपाल, पाकिस्तान, श्रीलंका, और बंगला देश में भी उतना ही लोकप्रिय है जितना की भारत में है। अधिकतर लोग इस खेल को खेलने और देखने में काफी रूचि रखते हैं।

अखिल भारतीय कबड्डी टूर्नामेंट का आयोजन विजय जिम खाना दुआर सन 1924 में किया गया था । इस टूर्नामेंट में 50 टीमों ने भाग लिया था । सन 1936 में वर्लिन ओलिंपिक में केवल प्रदर्शन के टूर पर हनुमान प्रसारक मंडल अमरावती ने कबद्धि खेल का प्रदर्शन किया ।

सन 1938 में भारतीय ओलिंपिक संघ ने रस्त्रिये खेलों में सम्मिलित किया ।


जब से भारतीय कबड्डी फेडरेशन ऑफ़ इंडिया की स्थापना हुई, तब से रास्ट्रीय कबड्डी पुरुषों की चैंपियनशिप शुरू हुई। भारतीय कबड्डी फेडरेशन ऑफ़ इंडिया की स्थापना सन 1952 में हुई थी ।

महिलाओं की रास्ट्रीय कबड्डी प्रतियोगिता 1955 से शुरू हुई थी । कबड्डी की विद्यालयों में 1962 में और विश्वविद्यालयों में 1961 में सम्मलित किया गया था । 

भारत में कबड्डी मुख्य तीन रूपों में खेली जाती थी। 

1. संजीवनी:- कबड्डी के इस रूप में 20-20 मिनट की दो परियां खेली जाती हैं और विश्राम 5 मिनट का होता है। इस कबड्डी में यदि विरोधी टीम का खिलाडी आउट हुआ खिलाडी पुनः जीवित हो जाता है। 

इस रूप में अगर सभी खिलाडी आउट हो जाते हैं तो विरोधी टीम को 2 अंक मिलते हैं। अंत में उसी टीम को विजयी घोषित किया जाता है जिस टीम के अधिक अंक होते हैं ।

2. गामिनी:- कबड्डी के इस रूप में खिलाडी के आउट होने पर पुनः जीवित नहीं होते थे, जिस टीम के सभी खिलाडी आउट हो जाते थे वेह टीम पराजित हो जाती थी ।

3. अमर:- कबड्डी खेल के इस रूप में 9-9 खिलाडी बाग़ लेते थे, इसमें 20-20 मिनट की दो पारियां होती थी और विश्राम के समय 5 मिनट का होता था। इसमें भी जिस टीम के अधिक अंक होते थे वो टीम विजय घोषित की जाती थी ।

कबड्डी के नियम | Rules of Kabaddi in Hindi

Rule 1.    अन्य खेलों की तरह कबड्डी की को टॉस के साथ शुरू किया जात है। जो टीम टॉस जीतती है वेह field या रेड में किसी को भी चुन सकता है ।
Rule 2.    कबद्धि खेल की शुरुआत कम से कम 5 खिलाडियों के साथ की जाती है ।
Rule 3.    यदि कोई भी खिलाडी अगर field से बहार जाता है तो उस खिलाडी को आउट माना जाता है ।
Rule 4.    संघर्ष के दौरान लोबी का क्षेत्र भी खेल में माना जाता है ।
Rule 5.    यदि कभी रेड करने वाली टीम के दो खिलाडी एक साथ रेड करते हैं तो उसको रद्द किया जाता है।


Rule 6.    खेल की दौरान अगर किसी खिलाडी को प्यास लगती है तो वह खिलाडी बहार से पानी की बोतल हवा में पकड़कर पानी पी सकता है ।
Rule 7.    कप्तान के आलावा कोई भी खिलाडी खेल के मध्य में रेफरी से बात नहीं कर सकता ।
Rule 8.    यदि रेडर जरुरी रखो को पार नहीं करता तो उस खिलाडी को आउट मन जाता है ।
Rule 9.    यदि कोई टीम बोनस अंक प्राप्त करती है तो किसी भी खिलाडी को जीवित नहीं किया जाता है ।

Rule 10.    किसी भी टीम का कोई भी खिलाडी कोई धातु की कोई चीज़ अपने शरीर पर नहीं रख सकता और न ही कोई चिकनाई वाले किसी पदार्थ को अपने शरीर पर लगा सकता है ।


Rule 11.    कबड्डी के मैच को अस्थायी रूप से 20 मिनट से अधिक नहीं रोका जा सकता ।
Rule 12.    खिलाडीकी t-shirt पर छाती पर या फिर पीठ पर 4 इंच का नंबर होना चाहिए ।
Rule 13.    अगर किसी कारण से खेल को दोबारा शुरू किया जाता है तो खिलाडी बदले जा सकते हैं ।
Rule 14.    अगर खेल की समय अवधि में अगर दोनों टीमों के बराबर अंक होते हैं तो 5 रेड लागू की जाती हैं ।
Rule 15.    5 रद में हर टीम के 5 रेड की देते हैं जबकि कोर्ट में 7 खिलाडी मौजूद रहते हैं ।


Rule 16.    5 रेड में से रेड की शुरुआत उस टीम से की जाती है जो मैच की शुरू में रेड करता है ।
Rule 17.    यदि उन 5 रेड में भी दोनों टीम के बराबर अंक रहते हैं तो Sudden death का नियम लागु किया जाता है ।
Rule 18.    sudden death में दोनों टीम बारी बारी रेड करती हैं और अगर कोई टीम लीड करती है to उस टीम को विजय घोषित किया जाता है ।
Rule 19.    5 रेड में अनिवार्य रेखा को बोनस रेखा माना जाता है ।


Rule 20.    किसी टीम के सभी खिलाडी के आउट होने पर उस टीम को 2 अंक का लोन भी दिया जाता है ।

Rule 21. कबड्डी में टाइम आउट का समय 30 सेकंड का होता है ।

Rule 22.    यदि कोई खिलाडी जान बुझकर किसी रेडर को धक्का देता है या फिर उसका मुह बंद करता है तो उसे त्रुटि माना जाता है ।
Rule 23.    जब कोई खिलाडी दुसरे खिलाडी को आउट करता है to दूसरी टीम का 1 खिलाडी जीवित किया जाता है ।
Rule 24.    5 रेड में अगर कोई खिलाडी किसी खिलाडी कोई आउट करता है to वह खिलाडी बहार नहीं जाता है है उस टीम को अंक दिए जाते हैं ।

 

Also Read About:- 

 

कबड्डी के कौशल (Techniques of Kabaddi)

कबड्डी देना (Raid) :- जब कोई खिलाडी कबड्डी देता है तो कबड्डी शब्द का उच्चारण सही और साफ़ शब्दों में होना चाहिए। 

खिलाडी को कबड्डी-कबड्डी अपने कोर्ट से शुरू करते हुए दूसरे टीम की कोर्ट की तरफ बढ़ना होता है। कबड्डी बोलते समय खिलाडी हंस नहीं सकता या फिर कोई और बात नहीं कर सकता।  

कबड्डी शब्द को 30  सेकंड तक एक समान आवाज में बोलना पड़ता है।  

रक्षा करना (Defence):- रेडर से अपने खिलाडी की रक्षा की जाती है उसके लिए तकनीक अपनायी जाती है। इसमें 2-3-2  के क्रम में खड़े रहते हैं, और अगर कोर्ट में 6 खिलाडी हों तो 2-2-2  के क्रम में, 5 खिलाडी 2-1-2 के क्रम में और यदि 4 खिलाडी हो तो 2-2 के क्रम में खड़े रहते हैं।  ना पड़ता है।

पकड़ना (Catching Technique):- रेडर को पैरों, कमर और हाथों से पकड़ा जाता है।  


 

Kabaddi Game Ground Measurement | पुरुषों और 19 साल से कम लड़कों के लिए कबड्डी क्षेत्र का माप

कबड्डी फील्ड की कुल लम्बाई         

13 Meter

कबड्डी फील्ड की कुल  चौड़ाई

10 Meter

लॉबी की चौड़ाई

1 Meter

मध्य रेखा से अनिवार्य रेखा की दुरी

3.75 Meter

अनिवार्य रेखा से बोनस रेखा की दुरी

1 Meter

बोनस रेखा से अंतिम रेखा की दुरी

1.75 Meter

बैठने वाले क्षेत्र की अंतिम रेखा की दुरी

2 Meter

सिटींग ब्लॉक की लम्बाई और चौड़ाई

8*1 Meter

खेल की अवधि

(20-5-20) Minute

Kabaddi Game Ground Measurement | महिलाओं, सब जूनियर लड़के और लड़कियों के लिए

कबड्डी क्षेत्र की लम्बाई

12 Meter

कबड्डी क्षेत्र की चौड़ाई

8 Meter

लॉबी की चौड़ाई

1 Meter

मध्य रेखा से अनिवार्य रेखा की दुरी

3 Meter

अनिवार्य रेखा से बोनस रेखा की दुरी

1 Meter

बोनस रेखा से अंतिम रेखा की दुरी

2 Meter

बैठने वाले क्षेत्र की अंतिम रेखा की दुरी

2 Meter

सिटींग ब्लॉक की लम्बाई और चौड़ाई

6*1 Meter

खेल की अवधि

15-5-15 Minute

 माप क्षेत्र सब जूनियर (14 वर्ष से कम लड़के लड़कियों) के लिए

कबड्डी क्षेत्र की लम्बाई

9.50 Meter

कबड्डी क्षेत्र की चौड़ाई

6.50 Meter

लॉबी की चौड़ाई

0.75 Meter

मध्य रेखा से अनिवार्य रेखा की दुरी

2.25 Meter

अनिवार्य रेखा से बोनस रेखा की दुरी

1 Meter

बोनस रेखा से अंतिम रेखा की दुरी

1.5 Meter

सिटींग ब्लॉक की लम्बाई और चौड़ाई

51 Meter

खेल की अवधि

(15-5-15) Minute

Frequently Asked Questions (FAQ)

 
Question: - कबड्डी खेल का जन्म कौन से देश में हुआ था?

Answer: - कबड्डी खेल का जन्म भारत में हुआ था।

Question:- महिला और पुरुष के लिए कबड्डी के खेल क्षेत्र का मापदंड कितना होता है ?
Answer:- पुरुष की field का 13मीटर✕ 10मीटर और महिलाओं के लिए 12 मीटर ✕ 8 मीटर होता है।

Question:- मध्य रेखा से ब्लॉक लाइन की दुरी कितनी होनी चाहिए ?
Answer:- पुरुषों के लिए 3.75 मीटर और महिलाओं के लिए ३ मीटर होती है।  

Question:- कबड्डी में बोनस लाइन से ब्लॉक लाइन की दुरी कितनी होती है ?
Answer:- कबड्डी में बोनस लाइन से ब्लॉक लाइन की दुरी 1 मीटर होती है ?

Question:- कबड्डी में 1 टीम में कितने खिलाडी होते हैं ?
Answer:- कबड्डी में 1 टीम में 12  खिलाडी होते हैं जिनमे 5 रिज़र्व शामिल होते हैं।  

Question:- कबड्डी मैच की अवधि कितनी होनी चाहिए ?
Answer:- पुरुषों के लिए 20-5-20 मिनट और महिलाओं के लिए 15-5-15 मिनट की अवधि होती है।  

Question:- कबड्डी खेल में केंट शब्द से क्या समझते है ?
Answer:- कबड्डी शब्द को शाबित करने के लिए एक स्वास में लगातार स्पस्ट रूप से आवाज निकली जाती है।  
    
Question:- कबड्डी में रेड शब्द का क्या अर्थ है ?
Answer:- जब किसी टीम का खिलाडी दूसरी टीम के मैदान में केंट सहित प्रवेश करता है तो इसे रेड कहा जाता है।  

Question:- Side Lobbies कबड्डी में कब शामिल होती है ?
Answer:- जब खेल के दौरान दोनों टीम के बीच संघर्ष शुरू होता है तभी Side Lobbies शामिल की जाती है।  

Question:- कबड्डी में लोना का क्या अर्थ है ?
Answer:- लोना एक प्रकार की पेनेलिटी है जिस टीम के सभी खिलाडी आउट हो चुके होते हैं।  इसके लिए विरोधी टीम को लोना के 2 अंक दिए जाते हैं।  

Question:- खिलाडी को आउट कब माना जाता है ?
Answer:- जब आक्रामक टीम का खिलाडी विरोधी टीम के किसी खिलाडी को हाथ दे या खिलाडी स्वयं मैदान से बाहर चला जाए तो आउट माना जाता है।  

Question:- रेडर और बोनस लाइन का क्या लाभ होता है ?
Answer:- इसे पार करने पर रेडर को एक अंक मिल जाता है।  

यह भी पढ़ें 

Post a Comment

Please do not enter any spam link in comment box.

Previous Post Next Post